Sunday, March 24, 2013

नादानी से......

बहला देते हैं आप
हमें तो बड़ी आसानी से

सच्‍ची-झूठी मि‍लाकर
रोज इक नई कहानी से

आपसे हैं प्‍यार इस खाति‍र
जानकर भी हैं हम अंजान

मारे जाएंगे देखना इक दि‍न
हम अपनी इसी नादानी से

तस्‍वीर--साभार गूगल 

9 comments:

काजल कुमार Kajal Kumar said...

वाह :)

शालिनी कौशिक said...

सुन्दर भावनात्मक प्रस्तुति आभार आपको होली की हार्दिक शुभकामनायें शख्सियत होने की सजा भुगत रहे संजय दत्त :बस अब और नहीं . .महिला ब्लोगर्स के लिए एक नयी सौगात आज ही जुड़ें WOMAN ABOUT MAN

Aziz Jaunpuri said...

gagar me sagar bhar diya aap ne,choti magar tej barik dhar.holi ki hardik badhayee ,sadar

Aziz Jaunpuri said...

gagar me sagar bhar diya aap ne,choti magar tej barik dhar.holi ki hardik badhayee ,sadar

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया said...

वाह ,,,बहुत ही सुंदर रचना,,,
होली की हार्दिक शुभकामनायें!
Recent post: रंगों के दोहे ,आप ममरी

Vikesh Badola said...

मानीवय अन्‍तर्सम्‍बन्‍ध पर गूढ़ दर्शनपरक पंक्तियां।

Reena Maurya said...

बहुत सुन्दर ...
अभी इश्क है इसलिए हर झूठी बात भी सच्ची लगती है..
हर बहाने पर ऐतबार हो जाता है...
बहुत ही सुन्दरता से इस सच को बताया है...
अति सुन्दर...
:-)

Reena Maurya said...

बहुत सुन्दर ...
अभी इश्क है इसलिए हर झूठी बात भी सच्ची लगती है..
हर बहाने पर ऐतबार हो जाता है...
बहुत ही सुन्दरता से इस सच को बताया है...
अति सुन्दर...
:-)

madhu singh said...

bahur hi sundar prastuti